Salasar Balaji Ki Aarti – सालासर बालाजी की आरती

सालासर बालाजी हनुमान जी की स्तुति के लिए हम Salasar Balaji Ki Aarti : श्री सालासर बालाजी की आरती का प्रकाशन यहाँ कर रहें हैं.

नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में.

राजस्थान के चुरू जिले में स्थित सालासर बालाजी हनुमान जी का धाम हनुमान जी के भक्तों के लिए एक प्रसिद्ध तीर्थस्थल है. प्रत्येक वर्ष लाखों भक्त यहाँ श्री सालासर बालाजी के दर्शन पूजन के लिए आतें हैं.

नकारात्मक शक्तियों और रोगों कष्टों से परेशान लोग श्री सालासर बालाजी के धाम में आने के पश्चात समस्त कष्टों से मुक्ति पा जातें हैं. ऐसी लोगों में धार्मिक मान्यता है. इस धाम की महिमा अत्यंत ही निराली है.

Salasar Balaji Ki Aarti Video

Shri Salasar Balaji Ki Aarti

Salasar Balaji Ki Aarti Live Darshan

|| श्री सालासर बालाजी हनुमान की आरती ||

जयति जय जय बजरंग बाला,
कृपा कर सालासरवाला |

जयति जय जय…..

चैत सुदी पूनम को जन्मे,
अंजनी पवन ख़ुशी मन में |
प्रकट भये सुर वानर तन में,
विदित यस विक्रम त्रिभुवन में |

जयति जय जय…..

दूध पीवत स्तन मात के,
नजर गई नभ ओर |
तब जननी की गोद से पहुंचे,
उदयाचल पर भोर |
अरुण फल लखि रवि मुख डाला ||

जयति जय जय….. ||1||

तिमिर भूमण्डल में छाई,
चिबुक पर इन्द्र बज्र बाए |
तभी से हनुमत कहलाए,
द्वय हनुमान नाम पाये |
उस अवसर में रूक गयो,
पवन सर्व उन्चास |
इधर हो गयो अन्धकार,
उत रुक्यो विश्व को श्वास |
भये ब्रह्मादिक बेहाला ||

जयति जय जय…..||2||

देव सब आये तुम्हारे आगे,
सकल मिल विनय करन लागे |
पवन कू भी लाए सागे,
क्रोध सब पवन तना भागे |
सभी देवता वर दियो,
अरज करी कर जोड़ |
सुनके सबकी अरज गरज,
लखि दिया रवि को छोड़ |
हो गया जगमें उजियाला ||

जयति जय जय……||3||

रहे सुग्रीव पास जाई,
आ गये बन में रघुराई |
हरी रावण सीतामाई,
विकल फिरते दोनों भाई |
विप्र रूप धरि राम को,
कहा आप सब हाल |
कपि पति से करवाई मित्रता,
मार दिया कपि बाल |
दुःख सुग्रीव तना टाला ||

जयति जय जय…||4||

आज्ञा ले रघुपति की धाया,
लंक में सिन्धु लाँघ आया |
हाल सीता का लख पाया,
मुद्रिका दे बनफल खाया |
बन विध्वंस दशकंध सुत,
वध कर लंक जलाय |
चूड़ामणि सन्देश सिया का,
दिया राम को आय |
हुए खुश त्रिभुवन भूपाला ||

जयति जय जय …||5||

जोड़ कपि दल रघुवर चाला,
कटक हित सिन्धु बांध डाला |
युद्ध रच दीन्हा विकराला,
कियो राक्षस कुल पैमाला |
लक्षमण को शक्ति लगी,
लायौ गिरी उठाय |
देई संजीवन लखन जियाये,
रघुवर हर्ष सवाय |
गरब सब रावण का गाला ||

जयति जय जय …||6||

रची अहिरावण ने माया,
सोवते राम लखन लाया |
बने वहाँ देवी की काया,
करने को अपना चित चाया |
अहिरावण रावण हत्यौ,
फेर हाथ को हाथ ||
मन्त्र विभीषण पाय आप को |
हो गयो लंका नाथ |
खुल गया करमा का ताला ||

जयति जय जय …||7||

अयोध्या राम राज्य किना,
आपको दास बना लीना |
अतुल बल घृत सिन्दूर दीना,
लसत तन रूप रंग भीना |
चिरंजीव प्रभु ने कियो,
जग में दियो पुजाय |
जो कोई निश्चय कर के ध्यावै,
ताकी करो सहाय |
कष्ट सब भक्तन का टाला ||

जयति जय जय …||8||

भक्तजन चरण कमल सेवे,
जात आय सालासर देवे |
ध्वजा नारियल भोग देवे,
मनोरथ सिद्धि कर लेवे |
कारज सारो भक्त के,
सदा करो कल्यान |
विप्र निवासी लक्ष्मणगढ़ के,
बालकृष्ण धर ध्यान |
नाम की जपे सदा माला,
कृपा कर सालासर ||

जयति जय जय …|| 9||

|| समाप्त ||

Salasar Balaji ki Aarti Lyrics

Jayati Jay Jay Bajrang Bala,
Kripa Kar Salasar Wala.
Chait Sudi Poonam Ko Janme,
Anjani Pawan Khushi Man Me.
Prakat Bhaye Sur Waanar Tan Me,
Widit Yas Wikram Tribhuvan Me.

Doodh Peewat Stan Maat Ke,
Najar Gayi Nabh Or.
Tab Janani ki God Se Pahunche,
Udayachal par Bhor.
Arun Phal Lakhi Ravi Mukh Dala.

Jayati Jayati …….

Timir Bhumandal Me Chayi,
Chibuk Par Indra Bjra Baaye.
Tabhi Se Hanumat Kahlaaye,
Dway Hanuman Naam Paaye.
Us Awsar Me Ruk Gayo,
Pawan Sarw Unchas.
Idhar Ho Gayo Andhkar,
Ut Rukyo Wishwa Ko Shwas.
Bhaye Brahmadik Behala.

Jayati Jay Jay……..

Dev Sab Aaye Tumhare Aage,
Sakal Mil Winay Karan Laage.
Pawan Koo Bhi Laaye Saage,
Krodh Sab Pawan Tana Bhage.
Sabhi Devta War Diyo,
Araj Kari Kar Jod.
Sunke Sabki Araj Garaj,
Lakhi Diya Ravi Ko chhod.
Ho Gaya Jag Me Ujiyala.

Jayati Jay jay…..

Rahe Sugriv Paas Jaayi,
Aa Gaye Ban Me Raghurai.
Hari Rawan Sita maayi,
Wikal Firte Dono Bhayi.
Wipra Rup Dhari Ram Ko,
Kaha Aap Sab Haal.
Kapi Pati Se Karwayi Mitrata,
Maar Diya Kapi Baal.
Dukh Sugriv Tana Tala.

Jayati Jay Jay……..

Aagyna Le raghupati Ki Dhaya,
Lank Me Sindhu Laangh Aaya.
Haal Sita Ka Lakh Paya,
Mudrika De Banphal Khaya.
Ban Widhwans Dashkandh Sut,
Wadh Kar Lank Jalay.
Chudamani Sandesh Siya Ka,
Diya Ram Ko Aay.
Huye Khush Tribhuvan Bhupala.

Jayati Jay Jay……….

Jod Kapi Dal Raghuvar Chala,
Katak Hit Sindhu Baandh Dala.
Yuddh Rach Dinha Wikrala,
Kiyo Rakshas Kul Paimala.
Lakshman Ko Shakti Lagi,
Layou Giri Uthay.
Deyi Sanjiwan Lakhan Jiyaye,
Raghuwar Harsh Saway.
Garab Sab Rawan Ka Gala.

Jayati Jay jay………..

Rachi Ahirawan Ne maya,
Sowte Ram Lakhan Laya.
Bane Wahan Devi Ki Kaya,
Karne Ko Apna Chit Chaya.
Ahirawan Rawan Hatyou,
Pher Hath Ko Hath.
Mantra Wibhishan Paay Aap Ko.
Ho Gayo Lanka Naath.
Khul Gaya Karma Ka tala.

Jayati Jay Jay………..

Ayodhya Ram Rajya Kina,
Aapko Das Bana Lina.
Atul Bal Grit Sindur Dina,
Lasat tan Rup rang Bhina.
Chiranjiv Prabhu Ne Kiyo,
Jag Me Diyo Pujay.
Jo Koi Nischay karke Dhyawai,
taki Karo Sahay.
Kasht Sab Bhaktan Ka Tala.

Jayati jay jay………

Bhakt Jan Charan Kamal Sewe,
Jaat Aaye Salasar Deve.
Dhwaja Nariyal Bhog Deve,
Manorath Siddhi kar Lewe.
Kaaraj Saaro Bhakt Ke,
Sada Karo Kalyan.
Wipra Niwasi Lakshman Gadh Ke,
Baalkrishna Dhar Dhyan.
Naam Ki Jape Sada Mala,
Kripa Kar Salasar Bala.

Jayati Jay Jay………….

श्री सालासर बालाजी की आरती कैसे करें?

श्री सालासर बालाजी हनुमान जी की आरती ( Shri Salasar Balaji Ki Aarti ) करने के लिए सभी दिन ही उत्तम होता है.

परन्तु मंगलवार के दिन श्री सालासर बालाजी की आरती करने का विशेष महत्व होता है.

ठीक इसी तरह से हनुमान जी से संबंद्धित दिवसों में जैसे की राम नवमी, हनुमान जयंती आदि में श्री सालासर बालाजी की स्तुति करने का विशेष महत्व माना गया है.

प्रातःकाल और संध्या काल का समय आरती के लिय्रे शुभ माना गया है.

ह्रदय में श्री सालासर बालाजी के प्रति सम्पूर्ण श्रद्धा और बिस्वास के साथ आरती करना अत्यंत ही शुभ और मंगलकारी होता है.

श्री सालासर बालाजी की आरती का महत्व

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार समस्त नकारात्मक शक्तियों से मुक्ति सालासर बालाजी के स्तुति से मिलती है. इस कारण से जो भी मनुष्य नकारात्मक उर्जा से परेशान हैं वे सम्पूर्ण श्रद्धा और बिस्वास के साथ श्री सालासर बालाजी की आरती करें और उनकी आराधना और स्तुति करें.

इसके अतिरिक्त अगर रोगों और कष्टों से परेशान हैं तो भी लोगों में ऐसी धार्मिक मान्यता है की सालासर बालाजी के धाम में आकर सालासर बालाजी की आराधना करने से मनुष्य के आत्मबल में बृद्धि होती है और रोगों से कष्टों से मुक्ति मिल जाती है.

लोगों की सालासर बालाजी पर बहुत अधिक धार्मिक श्रद्धा और बिस्वास है.

सालासर बालाजी की आरती करने से नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है और सकारात्मक ऊर्जा प्रवाहित होने लगती है.

मनुष्य के आत्मबल में बृद्धि होती है.

सालासर बालाजी का धाम कहाँ स्थित है?

राजस्थान के चुरू जिले के सालासर में श्री सालासर बालाजी का धाम स्थित है.

सालासर बालाजी में मेला का आयोजन कब किया जाता है?

चैत्र पूर्णिमा और आश्विन पूर्णिमा पर सालासर बालाजी धाम में मेला का आयोजन किया जाता है. यहाँ लाखों भक्तों की भीड़ इन उपलक्ष्यों में यहाँ आती है.

आज के इस महत्वपूर्ण प्रकाशन का समापन हम यहीं कर रहें हैं.

कुछ और महत्वपूर्ण आरतियों की सूचि हमने यहाँ दी हुई है.

Siddhivinayak Aarti श्री सिद्धिविनायक आरती

Babosa Maharaj Ki Aarti – बाबोसा महाराज की आरती

Om Jai Shiv Omkara (Aarti, Lyrics) – ॐ जय शिव ओमकारा आरती

Om Jai Jagdish Hare Aarti – ॐ जय जगदीश हरे आरती (With Lyrics)

  • Sheetla Mata ki Aarti – शीतला माता की आरती
    Sheetla Mata ki Aarti – शीतला माता की आरती के माध्यम से आज हम सब माँ शीतला की आराधना और स्तुति करेंगे. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार माँ शीतला अपने भक्तों …
  • Bhagwat Geeta Ji ki Aarti : भगवद्गीता आरती
    Bhagwat Geeta Ji ki Aarti / भगवद्गीता की आरती – इस संसार के महानतम ग्रंथों में से एक श्रीमद् भगवद्गीता का पाठ करना अत्यंत ही शुभ और मंगलकारी माना गया …
  • Shiv ji ki Aarti : शिव जी की समस्त प्रसिद्ध आरतियों का संग्रह
    Shiv Ji Ki Aarti – भगवान शिव की स्तुति के लिए हमने यहाँ शिव जी की कुछ प्रसिद्ध आरतियों (Shiv Ji Ki Aarti) का प्रकाशन किया है. महादेव शिव की …
  • Vaishno Mata Ki Aarti – वैष्णो माता की आरती
    वैष्णो माता की आरती (Vaishno Mata Ki Aarti) का प्रत्येक वैष्णो देवी के भक्त के लिए बहुत अधिक धार्मिक महत्व है. प्रत्येक वर्ष लाखों भक्त वैष्णो माता के दर्शन पूजन …
  • Surya Dev ki Aarti – सूर्य देव की आरती
    Surya Dev ki Aarti – सूर्य देव की आरती – सूर्य देव हम सबके साक्षात् देव. अन्य देवी देवताओं के हम साक्षात् दर्शन नहीं कर पातें हैं. परन्तु भगवान श्री …
  • Radha Ji Ki Aarti – राधा जी की आरती
    आज हम सब राधा जी की आरती (Radha Ji Ki Aarti) का प्रकाशन कर रहें हैं. भगवान श्री कृष्ण की शक्ति, सच्चे प्रेम की देवी जगत जननी श्री राधा रानी …
  • Gayatri Aarti – गायत्री माता की आरती
    Gayatri Aarti – गायत्री माता की आरती के माध्यम से हम माँ गायत्री की आराधना और स्तुति करतें हैं. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में. इस विडियो को अवस्य देखें. …
  • Salasar Balaji Ki Aarti – सालासर बालाजी की आरती
    सालासर बालाजी हनुमान जी की स्तुति के लिए हम Salasar Balaji Ki Aarti : श्री सालासर बालाजी की आरती का प्रकाशन यहाँ कर रहें हैं. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com …
  • Om Jai Shiv Omkara (Aarti, Lyrics) – ॐ जय शिव ओमकारा आरती
    महादेव शिव भोलेनाथ की स्तुति करने और उनकी आराधना करने के लिए सबसे प्रसिद्ध आरती है – ॐ जय शिव ओंकारा (Om Jai Shiv Omkara). नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com …
  • Teja Ji Ki Aarti – वीर तेजाजी की आरती
    Teja Ji Ki Aarti – वीर तेजाजी की आरती – हमने आज आप सबके लिए वीर तेजा जी की आरती प्रकाशित की है. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में. वीर …
  • Om Jai Jagdish Hare Aarti – ॐ जय जगदीश हरे आरती (With Lyrics)
    ॐ जय जगदीश हरे आरती (Om Jai Jagdish Hare Aarti) भगवान श्री विष्णु की स्तुति के लिए एक सर्वश्रेष्ठ आरती है. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में. भगवान श्री विष्णु …
  • Baba Gangaram Ji Ki Aarti बाबा गंगाराम जी की आरती
    आज हम Baba Gangaram Ji Ki Aarti बाबा गंगाराम जी की आरती का प्रकाशन कर रहें हैं. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com पर. बाबा गंगाराम जी के प्रति लोगों में …
  • Chitragupt Ji Ki Aarti – चित्रगुप्त जी की आरती
    Chitragupt Ji Ki Aarti चित्रगुप्त जी की आरती – भगवान श्री चित्रगुप्त जी की आरती करना अत्यंत ही शुभ और मंगलकारी माना गया है. नमस्कार, आपका स्वागत करतें हैं aarti.sonatuku.com …
  • Brahma Ji Ki Aarti – ब्रह्मा जी की आरती
    Brahma Ji Ki Aarti ब्रह्मा जी की आरती – आज हम श्री ब्रह्मा देव जी की आरती का प्रकाशन कर रहें हैं. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में. ब्रह्मा को …
  • Shri Sanu Ji Ki Aarti – श्री संणु जी की आरती
    Shri Sanu Ji Ki Aarti – श्री संणु जी की आरती – यहाँ हमने श्री संणु जी की आरती का प्रकाशन किया है. आप सब भक्तिपूर्वक आरती करें. नमस्कार, आपका …
  • Saturday Aarti – शनिवार की आरती
    Saturday Aarti – शनिवार की आरती – शनिवार के दिन की दो प्रसिद्ध आरती यहाँ प्रकाशित की गयी है. नमस्कार, स्वागत है आपका aarti.sonatuku.com में. वैसे तो शनिवार के दिन …
  • बुधवार की आरती – Wednesday Aarti
    बुधवार की आरती – Wednesday Aarti – बुधवार के दिन भगवान श्री कृष्ण की स्तुति करना अत्यंत ही शुभ और मंगलकारी माना गया है. साथ ही बुधवार को श्री गणेश …
  • Ekadashi Aarti एकादशी आरती – एकादशी व्रत के दिन की जानेवाली आरती
    Ekadashi Aarti | एकादशी आरती – एकादशी व्रत का हमारे हिन्दू धर्म में बहुत अधिक धार्मिक महत्व है. प्रत्येक महीने शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष में एकादशी व्रत किया जाता …
  • Katyayani Mata Ki Aarti – कात्यायनी माता की आरती
    Katyayani Mata Ki Aarti कात्यायनी माता की आरती – नवरात्री के छठे दिन (षष्ठी तिथि को) माँ कात्यायनी की आराधना और पूजा जाती है. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में. …
  • Maa Kushmanda Ki Aarti – माँ कुष्मांडा की आरती
    Maa Kushmanda Ki Aarti – कुष्मांडा माता की आरती – नवरात्रि के चौथे दिन यानी की चतुर्थी तिथि को माँ कुष्मांडा की पूजा आराधना की जाती है. नमस्कार, स्वागत है …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *