Surya Dev ki Aarti – सूर्य देव की आरती

Surya Dev ki Aartiसूर्य देव की आरती – सूर्य देव हम सबके साक्षात् देव. अन्य देवी देवताओं के हम साक्षात् दर्शन नहीं कर पातें हैं. परन्तु भगवान श्री सूर्य देव जी के दर्शन हम नित्य प्रतिदिन कर सकतें हैं.

नमस्कार, आपका स्वागत करतें हैं aarti.sonatuku.com में.

नित्य प्रतिदिन के अलावा सूर्य देव से संबंद्धित उत्सवों में सूर्य देव की आराधना और स्तुति करना अत्यंत ही शुभ और मंगलकारी माना जाता है.

Surya Dev ki Aarti | सूर्य देव की आरती

||सूर्य देव की आरती ||

जय जय जय रविदेव जय जय जय रविदेव |
रजनीपति मदहारी शतलद जीवन दाता ||

पटपद मन मदुकारी हे दिनमण दाता |
जग के हे रविदेव जय जय जय स्वदेव ||

नभ मंडल के वाणी ज्योति प्रकाशक देवा |
निजजन हित सुखराशी तेरी हम सब सेवा ||

करते हैं रविदेव जय जय जय रविदेव |
कनक बदन मन मोहित रुचिर प्रभा प्यारी ||

नित मंडल से मंडित अजर अमर छविधारी |
हे सुरवर रविदेव जय जय जय रविदेव ||

Surya Dev Ki Aarti Lyrics

Jay jay jay ravidev jay jay jay ravidev |
Rajaneepati madahaaree shatalad jeevan daata ||

Patapad man madukaaree he dinaman daata |
Jag ke he ravidev jay jay jay svadev ||

Nabh mandal ke vaanee jyoti prakaashak deva |
Nijajan hit sukharaashee teree ham sab seva ||

Karate hain ravidev jay jay jay ravidev |
Kanak badan man mohit ruchir prabha pyaaree ||

Nit mandal se mandit ajar amar chhavidhaaree |
He suravar ravidev jay jay jay ravidev ||

Surya Dev ki Aarti – सूर्य देव की आरती

|| सूर्य भगवान् की आरती ||

जय कश्यप नन्दन, ऊँ जय अदिति नन्दन |
द्दिभुवन तिमिर निकंदन, भक्त हृदय चन्दन || ऊँ जय….

जय सप्त अश्वरथ राजित, एक चक्रधारी |
दु:खहारी, सुखकारी, मानस मलहारी || ऊँ जय….

जय सुर मुनि भूसुर वन्दित, विमल विभवशाली |
अघ-दल-दलन दिवाकर, दिव्य किरण माली || ऊँ जय….

जय सकल सुकर्म प्रसविता, सविता शुभकारी |
विश्व विलोचन मोचन, भव-बंधन भारी || ऊँ जय…

जय कमल समूह विकासक, नाशक त्रय तापा |
सेवत सहज हरत अति, मनसिज संतापा || ऊँ जय…

जय नेत्र व्याधि हर सुरवर, भू-पीड़ा हारी |
वृष्टि विमोचन संतत, परहित व्रतधारी || ऊँ जय…

जय सूर्यदेव करुणाकर, अब करुणा कीजै |
हर अज्ञान मोह सब, तत्वज्ञान दीजै || जय ..

Jaya kaśyapa nandana, om jaya aditi nandana

Jaya kaśyapa nandana, om jaya aditi nandana.
Duibhuvan timira nikandana, bhakta hr̥daya candana. Om jaya….

Jaya sapta aśvaratha rājita, ek chakradhaari.
Du:Khahārī, sukhakārī, mānasa malahārī. Om jaya….

Jaya sura muni bhūsura vandita, vimala vibhavaśālī.
Agha-dala-dalana divākara, divya kiraṇa mālī. Om jaya….

Jaya sakala sukarma prasavitā, savitā śubhakārī.
Viśva vilōcana mōcana, bhava-bandhana bhārī. Om jaya…

Jaya kamala samūha vikāsaka, nāśaka traya tāpā.
Sēvata sahaja harata ati, manasija santāpā. Om jaya…

Jaya nētra vyādhi hara suravara, bhū-pīṛā hārī.
Vr̥iṣṭi vimōchana santata, parahita vratadhārī. Om jaya…

Jaya sūryadēva karuṇākara, aba karuṇā kījai.
Hara ajñāna mōha saba, tatvajñāna dījai. Om Jaya..

How to chant Surya Aarti?

  • सूर्य देव की आरती (Surya Dev Ki Aarti) आप नित्य प्रतिदिन कर सकतें हैं. (कुछ अपवादों को छोड़कर)
  • प्रातः काल सूर्य उदित होते समय सूर्य देव को अर्घ्य देने के पश्चात सूर्य देव की आरती करना अत्यंत ही मंगलकारी होता है.
  • आप सायं काल को भी अस्त होते सूर्य की आरती कर सकतें हैं.
  • किसी पवित्र सरोवर या नदी में स्नान करके सूर्य भगवान् को अर्घ्य अर्पण करने के पश्चात सूर्य देव की आरती करने से उत्तम फल की प्राप्ति होती है.
  • भगवान सूर्य देव जी से संबंद्धित सभी पावन तिथियों को सूर्य देव को अर्घ्य देना और उनकी स्तुति करना अत्यंत ही शुभ और मंगलकारी माना गया है.
  • सूर्य देव की आरती आप पूर्ण श्रद्धा और बिस्वास के साथ करें.
  • रविवार के दिन को भगवान सूर्य देव की आराधना और स्तुति के लिए एक उत्तम दिवस माना गया है. इस दिन सूर्य देव की स्तुति करना अत्यंत ही शुभ माना गया है.

सूर्य देव की आरती का महत्व

  • भगवान श्री सूर्य देव की आराधना और स्तुति के लिए सूर्य देव की आरती एक महत्वपूर्ण माध्यम है.
  • सूर्य देव इस जगत के साक्षात् देव है.
  • भगवान श्री सूर्य देव जी की कृपा से ही इस धरा पर जीवन संभव है.
  • इस धरती पर जीवन चक्र के लिए सूर्य देव अत्यंत ही आवश्यक है.
  • सूर्य देव के बिना इस धरती पर जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है.
  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सूर्य देव की स्तुति करने से निरोगी काया की प्राप्ति होती है.
  • सूर्य देव की कृपा से प्राण शक्ति मिलती है.
  • इस श्रृष्टि में समस्त प्राणियों के जीवन के लिए सूर्य देव की कृपा अत्यंत आवश्यक है.
सूर्य देव को साक्षात् देव क्यों कहा जाता है?

अन्य देवी देवताओं के साक्षात् दर्शन एक साधारण मनुष्य के लिए संभव नहीं है. परन्तु भगवान श्री सूर्य देव जी के साक्षात् दर्शन हम सब कर सकतें हैं. इस कारन से भगवान श्री सूर्य देव जी को साक्षात् देव कहा जाता है.

आज के इस महत्वपूर्ण प्रकाशन को समाप्त करने की इजाजत दीजिये. किसी तरह के सुझाव के लिए आप हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकतें हैं.

कुछ और महत्वपूर्ण आरतियों की सूचि हमने यहाँ दी हुई है. आप इन्हें भी देख सकतें हैं.

Siddhivinayak Aarti श्री सिद्धिविनायक आरती

Ekadashi Aarti एकादशी आरती – एकादशी व्रत के दिन की जानेवाली आरती

Om Jai Jagdish Hare Aarti – ॐ जय जगदीश हरे आरती (With Lyrics)

Om Jai Shiv Omkara (Aarti, Lyrics) – ॐ जय शिव ओमकारा आरती

  • Sheetla Mata ki Aarti – शीतला माता की आरती
    Sheetla Mata ki Aarti – शीतला माता की आरती के माध्यम से आज हम सब माँ शीतला की आराधना और स्तुति करेंगे. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार माँ शीतला अपने भक्तों …
  • Bhagwat Geeta Ji ki Aarti : भगवद्गीता आरती
    Bhagwat Geeta Ji ki Aarti / भगवद्गीता की आरती – इस संसार के महानतम ग्रंथों में से एक श्रीमद् भगवद्गीता का पाठ करना अत्यंत ही शुभ और मंगलकारी माना गया …
  • Shiv ji ki Aarti : शिव जी की समस्त प्रसिद्ध आरतियों का संग्रह
    Shiv Ji Ki Aarti – भगवान शिव की स्तुति के लिए हमने यहाँ शिव जी की कुछ प्रसिद्ध आरतियों (Shiv Ji Ki Aarti) का प्रकाशन किया है. महादेव शिव की …
  • Vaishno Mata Ki Aarti – वैष्णो माता की आरती
    वैष्णो माता की आरती (Vaishno Mata Ki Aarti) का प्रत्येक वैष्णो देवी के भक्त के लिए बहुत अधिक धार्मिक महत्व है. प्रत्येक वर्ष लाखों भक्त वैष्णो माता के दर्शन पूजन …
  • Surya Dev ki Aarti – सूर्य देव की आरती
    Surya Dev ki Aarti – सूर्य देव की आरती – सूर्य देव हम सबके साक्षात् देव. अन्य देवी देवताओं के हम साक्षात् दर्शन नहीं कर पातें हैं. परन्तु भगवान श्री …
  • Radha Ji Ki Aarti – राधा जी की आरती
    आज हम सब राधा जी की आरती (Radha Ji Ki Aarti) का प्रकाशन कर रहें हैं. भगवान श्री कृष्ण की शक्ति, सच्चे प्रेम की देवी जगत जननी श्री राधा रानी …
  • Gayatri Aarti – गायत्री माता की आरती
    Gayatri Aarti – गायत्री माता की आरती के माध्यम से हम माँ गायत्री की आराधना और स्तुति करतें हैं. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में. इस विडियो को अवस्य देखें. …
  • Salasar Balaji Ki Aarti – सालासर बालाजी की आरती
    सालासर बालाजी हनुमान जी की स्तुति के लिए हम Salasar Balaji Ki Aarti : श्री सालासर बालाजी की आरती का प्रकाशन यहाँ कर रहें हैं. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com …
  • Om Jai Shiv Omkara (Aarti, Lyrics) – ॐ जय शिव ओमकारा आरती
    महादेव शिव भोलेनाथ की स्तुति करने और उनकी आराधना करने के लिए सबसे प्रसिद्ध आरती है – ॐ जय शिव ओंकारा (Om Jai Shiv Omkara). नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com …
  • Teja Ji Ki Aarti – वीर तेजाजी की आरती
    Teja Ji Ki Aarti – वीर तेजाजी की आरती – हमने आज आप सबके लिए वीर तेजा जी की आरती प्रकाशित की है. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में. वीर …
  • Om Jai Jagdish Hare Aarti – ॐ जय जगदीश हरे आरती (With Lyrics)
    ॐ जय जगदीश हरे आरती (Om Jai Jagdish Hare Aarti) भगवान श्री विष्णु की स्तुति के लिए एक सर्वश्रेष्ठ आरती है. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में. भगवान श्री विष्णु …
  • Baba Gangaram Ji Ki Aarti बाबा गंगाराम जी की आरती
    आज हम Baba Gangaram Ji Ki Aarti बाबा गंगाराम जी की आरती का प्रकाशन कर रहें हैं. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com पर. बाबा गंगाराम जी के प्रति लोगों में …
  • Chitragupt Ji Ki Aarti – चित्रगुप्त जी की आरती
    Chitragupt Ji Ki Aarti चित्रगुप्त जी की आरती – भगवान श्री चित्रगुप्त जी की आरती करना अत्यंत ही शुभ और मंगलकारी माना गया है. नमस्कार, आपका स्वागत करतें हैं aarti.sonatuku.com …
  • Brahma Ji Ki Aarti – ब्रह्मा जी की आरती
    Brahma Ji Ki Aarti ब्रह्मा जी की आरती – आज हम श्री ब्रह्मा देव जी की आरती का प्रकाशन कर रहें हैं. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में. ब्रह्मा को …
  • Shri Sanu Ji Ki Aarti – श्री संणु जी की आरती
    Shri Sanu Ji Ki Aarti – श्री संणु जी की आरती – यहाँ हमने श्री संणु जी की आरती का प्रकाशन किया है. आप सब भक्तिपूर्वक आरती करें. नमस्कार, आपका …
  • Saturday Aarti – शनिवार की आरती
    Saturday Aarti – शनिवार की आरती – शनिवार के दिन की दो प्रसिद्ध आरती यहाँ प्रकाशित की गयी है. नमस्कार, स्वागत है आपका aarti.sonatuku.com में. वैसे तो शनिवार के दिन …
  • बुधवार की आरती – Wednesday Aarti
    बुधवार की आरती – Wednesday Aarti – बुधवार के दिन भगवान श्री कृष्ण की स्तुति करना अत्यंत ही शुभ और मंगलकारी माना गया है. साथ ही बुधवार को श्री गणेश …
  • Ekadashi Aarti एकादशी आरती – एकादशी व्रत के दिन की जानेवाली आरती
    Ekadashi Aarti | एकादशी आरती – एकादशी व्रत का हमारे हिन्दू धर्म में बहुत अधिक धार्मिक महत्व है. प्रत्येक महीने शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष में एकादशी व्रत किया जाता …
  • Katyayani Mata Ki Aarti – कात्यायनी माता की आरती
    Katyayani Mata Ki Aarti कात्यायनी माता की आरती – नवरात्री के छठे दिन (षष्ठी तिथि को) माँ कात्यायनी की आराधना और पूजा जाती है. नमस्कार, आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में. …
  • Maa Kushmanda Ki Aarti – माँ कुष्मांडा की आरती
    Maa Kushmanda Ki Aarti – कुष्मांडा माता की आरती – नवरात्रि के चौथे दिन यानी की चतुर्थी तिथि को माँ कुष्मांडा की पूजा आराधना की जाती है. नमस्कार, स्वागत है …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *