Mahavir Swami ki Aarti – महावीर स्वामी की आरती

भगवान श्री महावीर स्वामी जी की स्तुति के लिए महावीर स्वामी की आरती (Mahavir Swami Ki Aarti) को माध्यम बनाया जा सकता है. आप किसी भी माध्यम से भगवान महावीर की स्तुति करें, आपके हृदय में श्रद्धा और बिस्वास अवस्य होना चाहिए.

नमस्कार आपका स्वागत है aarti.sonatuku.com में.

भगवान महावीर जैन धर्म के 24 वें तीर्थंकर हैं.

महावीर स्वामी की आरती

|| भगवान श्री महावीर जी की आरती ||

जय सन्मति देवा,
प्रभु जय सन्मति देवा,
वर्द्धमान महावीर वीर अति,
जय संकट छेवा ।

ॐ जय सन्मति देवा …..

सिद्धार्थ नृप नन्द दुलारे,
त्रिशला के जाये,
कुण्डलपुर अवतार लिया,
प्रभु सुर नर हर्षाये |

ॐ जय सन्मति देवा …..

देव इन्द्र जन्माभिषेक कर,
उर आनंद भरिया,
रुप आपका लख नहिं पाये,
सहस आंख धरिया ।

ॐ जय सन्मति देवा …..

जल में भिन्न कमल ज्यों रहिये,
घर में बाल यती,
राजपाट ऐश्वर्य छोड़ सब,
ममता मोह हती ।

ॐ जय सन्मति देवा …..

बारह वर्ष छद्मावस्था में,
आतम ध्यान किया,
घाति-कर्म चूर-चूर,
प्रभु केवल ज्ञान लिया ।

ॐ जय सन्मति देवा …..

पावापुर के बीच सरोवर,
आकर योग कसे,
हने अघातिया कर्म शत्रु सब,
शिवपुर जाय बसे ।

ॐ जय सन्मति देवा …..

भूमंडल के चांदनपुर में,
मंदिर मध्य लसे,
शान्त जिनेश्वर मूर्ति आपकी,
दर्शन पाप नसे ।

ॐ जय सन्मति देवा …..

करुणासागर करुणा कीजे,
आकर शरण गही,
दीन दयाला जगप्रतिपाला,
आनन्द भरण तु ही ।

ॐ जय सन्मति देवा …..

पंच परमेष्ठी की स्तुति – Panch Parmeshthi Ki Aarti पंच परमेष्ठी की आरती

Mahavir Swami ki Aarti

Jai Sanmati deva,
Prabhu jai Sanmati deva,
wardhman mahavir veer ati,
Jai sankat chewa.

Om jai sanmati deva……

Siddhartha nrip nand dulare,
Trishla ke jaaye,
Kundalpur awtar liya,
Prabhu sur nar harshaye.

Om jai sanmati deva……

Dev Indra janmavishek kar,
Ur aanand bhariya,
Rup aapka lakh nahi paaye,
Sahas aankh dhariya.

Om jai sanmati deva…..

Jal me bhinn kamal jyon rahiye,
Ghar me bal yati,
Rajpat aishwary chhor sab,
Mamta moh hati.

Om jai sanmati deva…..

Barah warsh chhadmawastha me,
aatm dhyan kiya,
Ghati-karm chur-chur
Prabhu kewal gyan liya.

Om jai sanmati deva…..

Pawapur ke bich sarowar,
Aakar yog kase,
Hane aghatiya karm shatru sab,
Shivpur jaay base.

Om jai sanmati deva……

Bhumandal ke chandanpur me,
Mandir madhya lase,
Shaant jineswar murty aapki,
Darshan paap nase.

Om jai sanmati deva…..

Karunasagar karuna kije,
Aakar sharan gaddi,
Din dayala jagpratipala,
Aanand bharan tu hi.

Om jai sanmati deva……

विडियो

यहाँ हमने महावीर स्वामी की आरती से संबंद्धित यूट्यूब विडियो दिया हुआ है. आप इन्हें प्ले बटन दबाकर देख सकतें हैं.

Mahavir Swami Ki Aarti
ॐ जय सन्मति देवा आरती

जैन धर्म के 24 वें तीर्थंकर थे स्वामी महावीर. इनके अन्य नाम है – वीर, अतिवीर, वर्धमान, सन्मति.

इनका जन्म स्थान कुण्डग्राम था और इन्होने पावापुरी में मोक्ष को प्राप्त किया था.

भगवान महावीर स्वामी जी ने अहिंसा, अपरिग्रह, अनेकान्तवाद की शिक्षा दी.

यहाँ हमने कुछ और जैन आरतियों की सूचि दी हुई है. आप इन्हें भी देख सकतें हैं.

साथ ही ही किसी भी प्रकार के सुधार के लिए आप हमें निचे कमेंट बॉक्स में लिख सकतें हैं.

Nakoda Bhairav Aarti नकोड़ा भैरव आरती

Aadinath Bhagwan Ki Aarti आदिनाथ भगवान की आरती

Manibhadra Veer Aarti मणिभद्रवीर आरती

Bahubali Bhagwan Ki Aarti बाहुबली भगवान की आरती

Parshwanath Aarti – श्री पार्श्वनाथ भगवान की आरती

Padmavati Mata Ki Aarti पद्मावती माता की आरती

Chandra Prabhu Aarti चन्द्र प्रभु आरती

Shri Ghantakarna Mahavir Aarti श्री घंटाकर्ण महावीर आरती

24 Tirthankar Ki Aarti – चौबीस तीर्थंकर की आरती

Shantinath Bhagwan Ki Aarti शांतिनाथ भगवान की आरती

Gautam Swami Aarti गौतम स्वामी जी की आरती

Shri Anantnath Ki Aarti श्री अनन्तनाथ की आरती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *